Audition script 6

2
312

AUDITION SCRIPT

Dialogue Script of
NEWS REPORTER : 
नमस्कार। आज के समाचार में सबसे पहले कुछ सुर्खियां ……
एक आशिक ने शादी का वादा करके चार साल तक अपनी माशूका का बलात्कार करता रहा।
मालिक ने एक महिला को नौकरी का झांसा देकर किया उसका यौन शोषण ।
लीव इन रिलेशन में तीन साल रहने के बाद लडकी ने लगाया लडके पर बलात्कार का आरोप
 वेश्या के साथ पाखंडी साधू ने किया बलात्कार
 स्ट्रगलर मॉडल ने लगाया फिल्म के निर्माता निर्देशक पर बलात्कार का आरोप
समाज के ऐसे दूषित माहौल में जहां लड़कियां अब सुरक्षित नहीं है, कुछ लोगों का मानना हैं कि बलात्कारियों को तुरन्त फांसी पर चढ़ा देना चाहिए लेकिन वही दूसरी तरफ फांसी का विरोध करने वालों के भी अपने अपने तर्क हैं। इसी मुद्दे पर हमने कुछ लोगो से बात की। सुनिए देखिए इस मुद्दे पर समाज के विभिन्न वर्गों की क्या राय हैं ?
Old Man : 
अगर rape के दोषियों को फाँसी दी गई तो आगे से लोग rape करने के बाद लड़की को मार डालेंगे क्योंकि rape करने वाला यही सोचेगा की यदि rape के बाद उसे फांसी मिलनी ही हैं तो क्यों न वो हत्या भी कर दे क्यों की हत्या की भी सजा फांसी हैं
Young Man :  
rape जैसे अपराध को रोकने का सबसे कारगर तरीका ये हैं की लड़कियां शाम को 7 बजे घर से बाहेर नहीं निकलनी चाहिए।  अगर लडकिया जीन्स न पहने तो उनके साथ rape नहीं होगा।
Old man : 
 इसका मतलब तो फिर यही निकलता हैं की क्या बुरका साड़ी और सलवार सूट पहनने वाली लड़कियों औरतों के साथ rape नहीं होता ????
Young Man :
  यदि इस दुनिया से rape खत्म करना हैं तो सबसे सिंपल रास्ता यह हैं की पैदा होते ही लड़कों का लिंग काट दिया जाना चाहिए फिर सवाल ये होगा की वो अपने बीवी के साथ सम्भोग करके कैसे बच्चे पैदा करेंगे तो उसका समाधान ये हैं की हमारा विज्ञानं इतना प्रगति कर चूका हैं की बिना लिंग के भी पति के वीर्य को पत्नी के गर्भ में गर्भाधान किया जा सकता हैं।
Old Man : 
कैसी बेवकूफ भरी बातें करते हो भाई ??? हम एक ऐसे पेरेंट्स को जानते हैं जिनकी बेटी के साथ एक बार rape हो चूका हैं। दोबारा ना हो जाए रेप इसलिए इन्होंने बेटी का सर मुंडवा दिया । आप समझ सकते हैं उस माँ बाप की पीड़ा और उससे भी कहि ज्यादा उस बेटी की मनोव्यथा। लेकिन समाज को क्या ?
Young Man  :    
अगर लड़कियां दाढ़ी मूंछ लगाकर घुमे तो उनके साथ rape नहीं होंगे।
Old Man  : 
कमाल हैं । मैं rape जैसे गम्भीर मुद्दे पर अपनी चिंता व्यक्त कर रहा हूँ और तुम हो कि rape जैसे बर्निंग इशू का भी मजाक उड़ा रहे हो ? मुझे तुमसे ऐसी उम्मीद न थी । आज की यंग जनरेशन कितनी लापरवाह हो चुकी हैं। its rediculous
Young Man : 
ऐसी बात नहीं हैं अंकल। हर सिक्के के दो पहलू होते हैं। आप एक ही साइड देख रहे हो। दूसरा पहलू मैं आपको बताता हूँ जो कि आज कल ज्यादा फैशन में हैं। वो ऐसा हैं कि कुछ पेशेवर शातिर लडकियों ने rape को अपना धंधा बना लिया हैं क्यों की कानून एक तरफ़ा उनकी मदद करता है और मर्द लाचार होकर अपनी इज्जत बचाने के लिए इन लडकियों की ब्लैक मेलिंग का शिकार होता है । अपनी इस बात को सही साबित करने के लिए मैं  एक ऐसा EXAMPLE दुगा की आपके होश उड़ जायेगे। आपको शायद नहीं पता होगा की कुछ पत्नियां IPC की सेक्शन 498A का सहारा लेकर अपने पतियों पर अत्याचार करती है। मैं खुद भुक्त भोगी हूँ और मेरी so called धर्म पत्नी ने इसी कानून के सहारे मुझे भिखारी बना कर सडक पर ला खड़ा कर दिया । …………………….. ( और वो रोने लगता हैं )
Reporter  :  
हम लोग रोते हुए मर्दों पर रिपोर्टिंग न्यूज़ नहीं बना रहे हैं। या तो rape के सपोर्ट में बोलो या तो OPPOSE में बोलो।
Young Man :  
कमाल हैं। ये क्या बात हो गई की जो आप बोलोगे वही मैं ऑन कैमरा बोलू। मुझे मेरी बात कहने दो।
Reporter :  
आपकी बात जब आपकी बीवी नहीं सुनती तो पब्लिक क्या सुनेगी।तुम्हारे इंटरव्यू में TRP नहीं हैं।
Young Man :  
ये TRP क्या होता हैं ?
 
 TRP का मतलब तड़प,तेरे बात में तड़प नहीं है क्योंकि तुझे दूसरों के दुख के तड़प का एहसास नही हैं।
Reporter : 
सही बोला अंकल आपने।
Young Man : 
और कितना TRP चाहिए मेरा कहने का मतलब की और कितना तड़पू। बीवी तो कोर्ट के चक्कर लगवा लगवा के भिखारी बना के तडपा रही है और ये लोग बोलते हैं की मेरी बात में तड़प मतलब TRP नहीं हैं।”
Audition Over

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here