Struggler (उपन्यास) 17 : Game of Name & Fame

0
150

ग्लैमर….ग्लैमर की चमचमाती, आंखों को चुंधियाने वाली माया की दुनिया…इस मायावी दुनिया मे नाम और पैसे के लिए struggle चलता रहता है। 100 में कोई एक ये name fame का game जीत जाता है लेकिन 100 में से 99 लगे रहते है पूरे जीवन भर सिर्फ एक आस के भरोसे की किस्मत अपनी भी चमकेगी, आज नही तो कल ।

एक स्ट्रगलर का संघर्ष तब अत्यधिक कष्टदायक हो जाता है, जब वह अपने पेट के लिए रोटी और सिर पर छत के जुगाड़ में दिन रात काम पाने के लिए मारा-मारा मुम्बई की सड़कों पर फिरता है। बड़ी मुश्किल से यदि कोई अच्छा ब्रेक मिल गया तो नंबर वन का ताज़ और प्रसिद्धि का तख्त पाने के लिए स्ट्रगल करना पड़ता है।
स्ट्रगल……..STRUGGLE ताज़ और तख्त पर कब्जा होने के बाद यदि कोई स्ट्रगल करता है तो, इतिहास गवाह है कि वह और पाने के चक्कर मे बहुत कुछ खोता चला जाता है क्योंकि ये शोहरत भी बड़ी कमीनी चीज है जो रात भर रुकने के बाद जैसे वेश्या चली जाती है वैसे ही ये शोहरत भी एक दिन चली जाती हैं।

आज तक किसी भी विजेता को अक्षय विजय का वरदान नही मिला है। दूसरा पहलू यह है कि सब कुछ पाने के बाद खोना ही खोना है।मुम्बइया फिल्म इंडस्ट्री में एक कहावत है कि ” दिल मिले या न मिले, सबसे हाथ मिलाते रहिये क्योंकि यह कोई नही जानता कि कब, कहाँ और कैसे, किसके नाम की लॉटरी खुल जाए ।”

स्ट्रगल के दिनों में बहुत से निर्माता निर्देशको ने, यहाँ तक कि कुछ अभिनेता और अभिनेत्रियों ने, कई निर्माता निर्देशकों ने एक दुबले पतले लंबे स्ट्रगलर अमिताभ बच्चन की खूब हँसी उड़ाई थी। लेकिन समय का चक्र बदला और वही अमिताभ बच्चन जिसकी आवाज को आकाशवाणी मुम्बई के अधिकारियों ने भोंडी और कर्कश कह कर उन्हें उद्घोषक के पद पर नियुक्त नही किया था,उसी भोंडी कर्कश लेकिन भारी आवाज के मालिक अमिताभ बच्चन ने एक दो नही….पूरे पैतालीस साल तक, एक दो नही….लगभग सौ से अधिक फिल्मो में अपने बेमिसाल अभिनय के दम पर एंग्री यंग मैन सुपरस्टार बनकर इस स्टारडम में एक छत्र राज्य किया…..और अमिताभ बच्चन उसके बाद आज तक इतिहास बनाते जा रहे है। और एक ऐसा इतिहास जो अगले सौ सालो तक कोई नही तोड़ सकता। इसीलिए अमिताभ बच्चन को सदी का महानायक कहा जाता हैं। अमिताभ बच्चन के व्यक्तित्व और उनके संघर्ष के दिनों से प्रेरणा लेकर,एक दो नही बल्कि पच्चास हजार से अधिक स्ट्रगलर मुम्बई की सड़कों की खाक छान रहे है। प्रत्येक स्ट्रगलर को विश्वास है कि किस्मत अपनी भी चमकेगी, आज नही तो कल।

आज के निर्माता – निर्देशक परोक्ष रूप से किसी स्ट्रगलर को अपमानित नही करते, क्योंकि वो भी जानते है कि इन्ही स्ट्रगलरो में से कल कोई अमिताभ बच्चन बनेगा।।।।।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here