Struggler (उपन्यास) 7 : तकदीर

2
261

मुम्बईयाँ बॉलीवुड में कब किसके तकदीर का घोड़ा आगे निकल जाए, कुछ कहा नहीं जा सकता। कौन सी फिल्म हो जाये, कौन सी फिल्म दर्शकों द्वारा नकार दी जाए, हिट फ्लॉप फिल्म का यहां कोई केमिस्ट्री फार्मूला नहीं हैं। कब कौन सा स्ट्रगलर किराए के वन रूम किचन से निकलकर मालाड से मीरा रोड के बीच 1BHK या 2BHK फ्लैट खरीद ले, कौन कब अपना फ्लैट गाड़ी बेचकर तंगहाली में आत्महत्या  कर ले, पता ही नहीं चलता !!! काश हर स्ट्रगलर के माथे पर उसका भविष्य लिखा होता तो क्या बात होती !!! बड़ी निराली दुनिया हैं यह मुम्बईयाँ बॉलीवुड की मायावी फिल्म नगरी……इसमे सात नहीं हजार रंग हैं। इसलिए शोहरत पाने के लिए अपना ” सब कुछ ” दांव पर लगा देते हैं ये महत्वाकांक्षी स्ट्रगलर

…………………………….

फिल्मोनिया से पीड़ित नौजवान दिलीप कुमार, राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए शाहरुख खान, अक्षय कुमार, गोविंदा और आज के स्टार नवाजुद्दीन सिद्दीकी, सुनील ग्रोवर जैसे अन्य प्रसिद्ध कलाकारों की तरह अभिनेता बनने का ख्वाब लेकर मुंबई आते हैं। शरुआत के दिनों में वह इसी नशे में मस्त रहता है कि बहुत जल्द मौका मिलते ही वह बच्चन,खन्ना,कुमार,खान जैसा महान एक्टर बन जायेगा…….वह आज के बड़े से बड़े सुपर स्टार्स की छुट्टी कर देगा…….लेकिन धीरे धीरे उसे आटे दाल का भाव पता चलने लगता हैं। इस चकाचौध की दुनिया मे धीरे धीरे उसे उसके औकात की पता चलने लगती हैं। अपने ख्वाबों के हैसियत से वह रु ब रु होने लगता हैं। विकट असहज परिस्थितियों से दो दो हाथ करते करते उसका मन अकुलाने लगता हैं। लेकिन विडम्बना ये की फिल्मी नगरी की चुम्बकीय आकर्षण उसे वापस लौटने नहीं देती। तब वह मजबूरी में हीरो न बनकर कुछ ” और ” बनने लगता हैं – चरित्र अभिनेता, राइटर, फाइटर, डायरेक्टर, मेकअप आर्टिस्ट, ड्रेस मैन, स्पॉटबॉय……………………………………………ख्वाब की तितलियां केवल खुशनशिबों की ही चुटकी में आती हैं बरखुरदार

******************************

Previous part :-

Struggler (उपन्यास) 6 : जरूरत , सहारा , मार्गदर्शन ।

Next part :-

Struggler (उपन्यास) 8 : COMPROMISE DEAL 

 

 

2 COMMENTS

  1. 👍👍👍sir maine mumbai aa kar struggle to nahi kiya h lekin main is bat ki gehrai ko samjh sakta hu. maine mehsus kiya h. mumbai me na sahi lekin sir maine kuwait me 6 salo me ise mehsus kiya. bas fark itna h ki us waqt me apne pariwar ki liye lad raha tha or ab apne lakshay ko pane k liye ladunga.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here